आतंकियों की सूचना देने वाले सरपंच के बच्चे घर में दुबके, महिलाएं सहमी

on
भोपाल। भोपाल स्थित सेंट्रल जेल से भागे सिमी के 8 संदिग्ध आतंकियों की सूचना देने वाले सरपंच ने पहली बार मीडिया के सामने अपना पक्ष रखा। dainikbhaskar.com से हुई खास बातचीत में सरपंच ने बताया कि एनकाउंटर के बाद से ही उनका पूरा परिवार दहशत में है। बच्चे इस कदर डर गए हैं कि दिन में भी घर से बाहर नहीं जाते। वहीं, परिवार की महिलाएं भी घटनाक्रम के बाद से सहम गई हैं। खेत में पानी देने नहीं गया सरपंच…
जैसा कि सरपंच ने बताया
एनकाउंटर के बाद से ही मीडिया की सुर्खियों में आए खेजड़ा देव पंचायत के मोहन सिंह मीणा की मानें तो सोमवार की सुबह टीवी से उन्हें भोपाल जेल से 8 आतंकियों के भागने की सूचना मिली थी। कुछ देर बाद जब वे अपने खेत की ओर जा रहे थे, तभी उन्हें खेतों में कुछ संदिग्ध लोग दिखाई दिए। उन्होंने फौरन इसकी जानकारी ग्रामीणों और पुलिस को दी। पुलिस के मौके पर पहुंचने से पहले ग्रामीणों ने पहाड़ी पर चढ़ रहे संदिग्ध लोगों का 2 किमी तक पीछा किया। उधर, पुलिस फोन पर लगातार लोकेशन ले रही थी। कुछ देर बाद पुलिस मौके पर पहुंच गई और मुठभेड़ शुरू हो गई।
सवाल: कैसे पता चला की खेत में से गुजरने वाले आतंकवादी ही है?
जवाब:
ये पता नहीं था कि वे आतंकवादी है। लेकिन उनकी गतिविधि देखकर लग रहा था कि मामला संदिग्ध है। वे तेजी से पहाड़ी की ओर भाग रहे थे। शंका होने के बाद हमने पुलिस और ग्रामीणों को इसकी सूचना दी।
सवाल: एनकाउंटर के बाद से प्रशासन की ओर से कोई मदद या सुरक्षा मिली?
जवाब:
अब तक सरकार की ओर से कोई सुरक्षा नहीं मिली है। मप्र स्थापना दिवस पर सीएम ने मुझे बुलाया था। वहां, उन्होंने ग्रामीणों के हौसले की तारीफ की और मदद का आश्वासन दिया है। हालांकि, मेरा नाम सामने आने पर परिवार के लोग डरे हुए हैं। बच्चे मुझे घर से बाहर नहीं जाने देते, उधर परिवार की महिलाएं भी सहमी हुई है। परिवार में पढ़ रहे डर की वजह से मैं घटनाक्रम के बाद से खेत में पानी देने नहीं गया हूं।
सरपंच ने बताया, गांव में जमीन खरीदने आए थे कुछ संदिग्ध
– सरपंच ने बताया कि गांव लौटने पर यह जानकारी भी मिली कि मंगलवार को दो लोग गांव आए थे और जमीन का मोल-भाव कर रहे थे।
– यहां जमीन का भाव 30 लाख रुपए एकड़ है, लेकिन वे 50 लाख रुपए प्रति एकड़ का भाव देने को तैयार थे। वे जल्दी जमीन खरीदना चाहते थे।
– सरपंच के मुताबिक, जब पूछा कि गांव में ऐसा खास क्या है जो इतनी महंगी जमीन खरीदना चाहते हो, तो उन्होंने जवाब दिया कि मुर्गी पालने के लिए सेंटर बनाएंगे।

सरपंच ने कहा- जान पर खतरा नजर आ रहा है
– इन सब बातों से अब मुझे दहशत होने लगी है। किसान होने के नाते हमें रात और दिन घर से बाहर और खेतों में काम करना होता है।
– बाहर भी आना-जाना होता है। ऐसे में अब मुझे डर लग रहा है। सुबह होते ही मैं अपनी सिक्युरिटी के लिए पुलिस से बात करूंगा।

गांव में छिपे थे आतंकी, एनकाउंटर से पहले मोहन सिंह ने देखा था
– सेंट्रल जेल से भागे स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) के 8 आतंकी जिस गांव में छिपे थे, वहां उन्हें सबसे पहले गांव के सरपंच मोहन सिंह ने ही देखा था।
– भोपाल जेल से भागने से पहले आतंकियों ने जेल के एक सिक्युरिटी गार्ड को गला काटकर मार डाला, जबकि दूसरे सिक्युरिटी गार्ड को धमकी दी कि शोर मचाने पर उसका भी गला रेत देंगे।
– दूसरे गार्ड को बांधकर भागने वाले आतंकियों को बाद में 9 घंटे के अंदर ही भोपाल से बाहर एक पहाड़ी पर एनकाउंटर में मार दिया गया था।
Advertisements

एक टिप्पणी अपनी जोड़ें

  1. Prabhash कहते हैं:

    share your beard look photos on this page and get a chance to win amazing prize.
    process to win amazing prize.
    1- Post your beard look photo
    2- If you get most number of likes and share then you have chace to win amazing prizes.

    https://www.facebook.com/Desi-Beard-Fashion-978018655675559/

    Like

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s