पैसे के बिना गेम नहीं: BCCI के बैंक अकाउंट्स फ्रीज होने पर अनुराग ठाकुर का बयान

नई दिल्ली/मुंबई. बीसीसीआई प्रेसिडेंट अनुराग ठाकुर ने मंगलवार को न्‍यूजीलैंड के साथ चल रही सी‍रीज रद्द होने की खबरों से इनकार किया। लेकिन यह भी कहा कि बिना पैसों के गेम नहीं खेला जा सकता। बता दें कि पहले खबरें आई थीं कि बीसीसीआई अपने बैंक अकाउंट्स फ्रीज होने की वजह से न्‍यूजीलैंड के साथ चल रही सी‍रीज को रद्द कर सकता है। जस्टिस लोढ़ा कमेटी ने सोमवार को फंड पेमेंट गाइडलाइन्स ना मानने की वजह से बैंकों को बोर्ड के अकाउंट्स फ्रीज करने का ऑर्डर दिया था। इस बीच सुबह जस्टिस एमआर लोढ़ा साफ किया कि बीसीसीआई को रूटीन मैटर्स के फंड रोकने के लिए नहीं कहा गया है। किसी सीरीज के कैंसल होने का सवाल ही नहीं उठता। और क्या कहा अनुराग ने…
– अनुराग ठाकुर ने मंगलवार को कहा- “यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि उन्हें स्टेट एसोसिएशन्स को पेमेंट जारी करने की इजाजत नहीं दी जा रही। जबकि स्टेट एसोसिएशन्स मैचों को कराने के लिए बीसीसीआई पर निर्भर हैं।”
– ” मैं इस पर बात नहीं कर सकता कि सीरीज जारी रहेगी या नहीं, लेकिन यदि प्लेयर्स और एसोसिएशन्स को पेमेंट नहीं किया जाता है, तो इससे गंभीर स्थिति पैदा होगी।”
– ” हमने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) जैसे सफल टूर्नामेंट को तैयार किया। हम पैसे के बिना गेम नहीं चला सकते।”
जस्टिस लोढ़ा ने कहा- हमारे ईमेल को गलत तरीके से समझा गया
– बीसीसीआई अकाउंट्स फ्रीज पर आरएम लोढ़ा ने मंगलवार को कहा कि बीसीसीआई को स्टेट एसोसिएशंस को दिए जाने वाले बड़े फंड को रोकने के लिए कहा गया है। रूटीन मैटर्स के लिए फंड रोकने को नहीं कहा गया है।
– जस्टिस लोढ़ा ने कहा, “किसी खेल या सीरीज के कैंसल होने का सवाल ही नहीं उठता। बीसीसीआई को हमने सोमवार को ईमेल किया था, जिसमें स्टेट एसोसिएशन्स को बड़ा फंड नहीं दिए जाने की बात थी।”
– “बीसीसीआई के खातों को फ्रीज नहीं किया गया है। इसका मतलब साफ है कि ईमेल को न केवल ठीक से पढ़ा गया बल्कि उसे गलत तरीके से समझाया गया।”
– “ये बात कहीं नहीं थी कि रूटीन खर्चे मसलन मैच, क्रिकेट एक्टिविटी या एडमिनिस्ट्रेशन के लिए पैसा रोका जाएगा।”
– “हमने जो सिफारिश की है, उससे पिछले साल तैयार हो चुके चैंपियन ट्रॉफी के कैलेंडर पर भी असर नहीं पड़ेगा।”
अभी न्यूजीलैंड सीरीज का ये स्टेटस
– भारत और न्यूजीलैंड टेस्ट सीरीज में अभी तक दो टेस्‍ट मैच हो चुके हैं। एक टेस्‍ट बचा है। वहीं, पांच वनडे खेले जाने हैं।
क्या कहना है बीसीसीआई का?
– मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, लोढ़ा कमेटी के इस फैसले के बाद बीसीसीआई काफी नाराज है।
– बीसीसीआई के एक अफसर ने बताया- “बोर्ड को सीरीज रद्द करने का फैसला लेने के लिए मजबूर होना पड़ सकता है, क्‍योंकि हमारे हाथ बांध दिए गए। पैसा कौन देगा। अभी इंटरनेशनल सीरीज चल रही है। इससे इमेज पर असर पड़ेगा। भारत में बांग्लादेश, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैड के साथ होने वाली सीरीज पर भी असर पड़ सकता है।”
कमेटी ने बैंकों को क्या ऑर्डर दिया ?
– कमेटी ने बैंकों को लिखे लेटर में कहा- “हमने ये नोटिस किया है कि बीसीसीआई ने 30 सितंबर को एजीएम में कई मेंबर्स को बड़े अमाउंट देने का फैसला किया है। इन पर रोक लगा दी जाए।”
– लेटर की एक कॉपी बीसीसीआई के सेक्रेटरी अजय शिर्के, सीईओ राहुल जौहरी और ट्रेजरर अनिरुद्ध चौधरी को भी भेजी गई है। इसमें कहा गया है- “आपको जानकारी होगी कि 31.8.2016 को हमने कुछ डायरेक्शन दिए थे। आपसे कहा गया था कि रूटीन मैटर्स के अलावा कोई डिसीजन न लिए जाएं।”
– लेटर में आगे कहा गया है- “जो पेमेंट आप करने जा रहे हैं, उन्हें रूटीन फैसला नहीं माना जा सकता। इस बारे में अब कोई फैसला न लें।”
बीसीसीआई ने नहीं मानीं सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन्स
– लेटर में कमेटी ने कहा, “बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को नहीं माना। इस कमेटी ने फंड पेमेंट पर जो गाइडलाइन्स दी थीं, उनका भी पालन नहीं किया गया। कोर्ट 6 तारीख को नए डायरेक्शन जारी करेगा। इसके पहले आप किसी तरह के पेमेंट नहीं करेंगे। अगर ऐसा होता है तो इसकी रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को सौंपी जाएगी।”
– कमेटी ने 18 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुनाए फैसले का जिक्र भी किया है। कोर्ट ने बोर्ड से कहा था कि वो लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों को लागू करने में मदद करे।
– लोढ़ा कमेटी पहले ही सुप्रीम कोर्ट को बता चुकी है कि बीसीसीआई ने उसकी सिफारिशें नहीं मानी।
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s