यहां 500 साल से सोना लुटाकर मनाया जाता है दशहरा, जानि‍ए क्‍यों

झांसी.बुंदेलखंड में एक गांव ऐसा है, जहां अनोखे तरीके से दशहरा मनाया जाता है। यहां 500 साल पहले दशहरे के दिन नरसंहार की घटना के बाद से पांच दशक पहले तक सवा मन सोना लुटाए जाने की परंपरा थी। आज भी यहां यह परंपरा जीवि‍त है, लेकि‍न अब रत्‍ती भर सोने लुटाकर ही इसका नि‍र्वहन कि‍या जाता है। बताया जाता है कि‍ पहले 24 गांव के समृद्ध ग्रामीण इस दिन सोना लुटाते थे।
रोचक बात यह है कि दशहरे के दिन यह परंपरा श्रीराम द्वारा रावण के वध की खुशी में नहीं, बल्कि पूर्वजों के बीच हुए युद्ध में खून की होली के कारण शुरू हुई। इस नरसंहार को कलयुग में बुराई पर अच्छाई की जीत माना गया। सोना लुटाए जाने की परंपरा यहीं से शुरू हुई। आज सवा मन तो नहीं, लेकिन मिट्टी के गोले बनाकर उनमें से किसी एक में रत्ती भर सोना भरकर जरूर लुटाया जाता है।
बुंदेलखंड के हमीरपुर क्षेत्र में स्‍थि‍त है वि‍दोखर गांव
बताते चलें कि‍ बुंदेलखंड के हमीरपुर में वि‍दोखर गांव है, जहां दशकों पहले हजारों लोग सवा मन सोना लुटाकर दशहरा मनाते थे। इस गांव में वह कुआं और राहिल देव मंदिर आज भी मौजूद है, जहां नरसंहार के बाद सोना लुटाए जाने की परंपरा शुरू हुई थी। यहां उन्नाव के गांव डोंडियाखेड़ा के लोग सोना लुटाने में अहम भूमिका निभाते थे। यह वही क्षेत्र है, जहां कुछ समय पहले एक संत शोभन सरकार ने सोने का खजाना जमीन में दबे होने का दावा किया था।
क्‍या है पूरी कहानी
विदोखर गांव को मुगल शासक बहादुरशाह जफर द्वारा बसाया गया था। बताया जाता है कि औरंगजेब ने इस गांव के ठाकुरों को मुसलमान बनाया गया था। उन्हें बगरी ठाकुर कहा जाता था। लगभग 530 वर्ष पहले उन्‍नाव के डोंडियाखेड़ा से ठाकुर बड़ी संख्या में यहां व्यापार के लिए जाते थे। ठाकुरों का यह जत्था एक बार हमीरपुर के इसी विदोखर गांव से गुजर रहे था, तभी कुआं देख पानी पीने के लिए रुक गए।
इसी दौरा बगरी ठाकुर समाज से ताल्लुक रखने वाले कुछ युवक यहां पहुंच गए। कुएं के आसपास किसी को जाने की इजाजत नहीं थी। व्यापारी ठाकुरों द्वारा पानी पीने से नाराज बगरी ठाकुर युवकों ने उनकी धुनाई कर दी। इससे आहत हुए व्‍यापारि‍यों ने बगरी ठाकुरों को सबक सिखाने की ठान ली।
Advertisements

One Comment Add yours

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s